रेजिमेंट संबंधी निधी  

  • अण्डमान तथा निकोबार पुलिस में आवश्यक पुलिस कर्मियों को वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए निम्नलिखित कल्याण अप्रवास से संबंधी मामले प्रचलन में है । जिसका विवरण इस प्रकार है:

अण्डमान तथा निकोबार पुलिस ऋण और जमा निधि

  • अण्डमान तथा निकोबार पुलिस के कर्मचारियों के लिए कल्याणकारी कदम के रूप में ऋण सुविधा प्रदान करने के लिए वर्ष 1952 में ऋण और जमा निधि का शुभारंभ किया गया ।
  • उद्देश्य
    • सेवा से बरखास्तगी/सेवानिवृति में सदस्यों के यात्रा व्यय का वहन करने के लिए सक्षम होना ।
    • सदस्यों द्वारा निम्नलिखित प्रयोजनों के लिए निधि का उपयोग पुलिस महानिदेशक की अनुमति पर दिया जा सकता है
    • खुद का या आश्रित पारिवारिक सदस्यों का विवाह के लिए
    • खुद का या अभिभावकों के गृह जहाॅं पर सामान्यतः आवेदक निवास करते हो का निर्माण (दस्तावेजों का जाँच पडताल पर निर्भर करते हुए) 
    • घर का मरम्मत कार्य/हाऊस साइट का खरीद हेतु
    • परिवार के सदस्यों को मुख्यभूमि से लाने और ले जाने का खर्च का वहन करने के लिए ।
    • बीमारी के संबंध में (खुद का चिकित्सा या किसी आश्रित का) खर्चों का वहन ऐसे किसी प्रयोजन जिसे पुलिस महानिदेशक उचित समझें ।

पदाधिकारी: ऋण और जमा निधि के पदाधिकारी निम्नलिखित होंगे:

    • प्रशासक - पुलिस महानिदेशक, अण्डमान तथा निकोबार द्वीपसमूह
    • सदस्य - पुलिस महानिरीक्षक/उप पुलिस महानिरीक्षक (प्रशासन)
    • सदस्य - पुलिस अधीक्षक (सशस्त्र पुलिस) 
    • सदस्य - उप पुलिस अधीक्षक (सशस्त्र पुलिस) 
    • सदस्य - उप प्रधानाचार्य (पुलिस प्रशिक्षण विद्यालय)
    • सदस्य - उप पुलिस अधीक्षक (पुलिस मुख्यालय)
    • सदस्य - मुख्य अग्निशमन अधिकारी
    • सदस्य - सहायक समादेशक (मुख्यालय), भारत आरक्षित वाहिनी
    • सदस्य - सशस्त्र पुलिस/विशेष सशस्त्र पुलिस/पुलिस प्रशिक्षण विद्यालय/पुलिस रेडियो संगठन/ अग्निशमन सेवा/भारत आरक्षित वाहिनी/दक्षिण, मध्योतर, कार निकोबार जिला प्रत्येक में से एक सिपाही

धन का श्रोत: सदस्यता शुल्क प्रत्येक पद के हकदार राशि/निर्धारित सीमा का 20 प्रतिशत होगा ।

धन का स्रोत

क्रमांक कर्मचारी का वर्ग हकदार राशि 20 प्रतिषत सदस्यता शुल्क
 1. अनुचर सिपाही/पुलिस सिपाही/प्रधान सिपाही/सवार हरकारा/फिटर/सहायक उप निरीक्षक (सभी यूनिट के )/उप निरीक्षक (सभी यूनिट के ) 100000.00 100000.00
 2. निरीक्षक/स्थानीय पुलिस उप अधीक्षक 125000.00 125000.00

सदस्यता शुल्क प्रत्येक पद के हकदार राशि/निर्धारित सीमा का 10 प्रतिशत होगा। Category-wise Loan Limit: 

श्रेणीवार ऋण सीमारू

क्रमांक कर्मचारी का वर्ग सीमा
 1. अनुचर सिपाही/पुलिस सिपाही/प्रधान सिपाही/सवार हरकारा/फिटर/सहायक उप निरीक्षक (सभी यूनिट के )/उप निरीक्षक (सभी यूनिट के ) 100000.00
 4 निरीक्षक/पुलिस उप अधीक्षक 125000.00

ब्याज दर: उपरोक्त ऋणों के लिए 5 प्रतिशत वार्षिक दर पर सामान्य ब्याज दर है। किस्त वसूली: ऋण राशि को 36 किस्तों में वसूला जाएगा। उसी प्रकार ऋण का ब्याज को भी निम्नलिखित तालिका के अनुसार 20 मासिक किस्तों (मूल धन सहित) में वसूला जाएगा ।   

किस्त वसूली

क्रमांक कर्मचारी का वर्ग सीमा 36मासिक
 1. अनुचर सिपाही/पुलिस सिपाही/प्रधान सिपाही/सवार हरकारा/फिटर/सहायक उप निरीक्षक (सभी यूनिट के )/उप निरीक्षक (सभी यूनिट के ) 100000.00  
 2. निरीक्षक/पुलिस उप अधीक्षक 125000.00  

सदस्यता शुल्क की वापसी: सेवानिवृत्ति के बाद सदस्यता शुल्क 5 प्रतिशत प्रतिवर्ष के सामान्य ब्याज दर पर सदस्यता शुल्क की वापसी की जाएगी । अभी तैनात कर्मचारी: प्रधान सिपाही 1, प्रधान सिपाही (भारत आरक्षित वाहिनी) 1

अण्डमान तथा निकोबार वित्तीय कल्याणकारी स्कीम

वर्ष 1991 के दौरान ‘‘अण्डमान तथा निकोबार पुलिस वित्तीय कल्याणकारी स्कीम’’ के नाम से अण्डमान तथा निकोबार पुलिस बल के सभी सदस्यों के लाभार्थ एक बीमा-व-बचत स्कीम का शुुरुआत किया गया ।

उद्देश्य: 

    • किसी भी सदस्य के ड्यूटी के दौरान मृत्यु होने पर इस स्कीम के सदस्य के नामिती या कानूनी वारिस को रु.2,50,000/- एकमुष्त राशि का भुगतान किया जाएगा । 
    • सेवा के दौरान स्वाभविक मृत्यु होने पर सदस्य द्वारा नामित व्यक्ति(यों) या कानूनी वारिस(सों) को रु.1,00,000.00 एकमुस्त राषि का भुगतान किया जाएगा ।
    • ऊपर बताए गए (क) और (ख) में बीमांकित राशि ही मृत व्यक्ति के आश्रितों को भुगतान किया जाएगा । सदस्य द्वारा अशदान किए गए राशि का भुगतान नही किया जाएगा ।
    • यदि किसी सदस्य का स्थाई या पूर्ण रूप से अपंग होने तथा उसके कारण सेवा से बर्खास्तगी करते है तो उसे अधिकतम रु.70000.00 (जैसा इस स्कीम का प्रबंध समिति उचित समझे) । किसी भी मामले में यह राषि उनके अंतिम अंषदान के तारीख से सदस्य होने के नाते उनको देय राशि से कम नही होनी चाहिए ।
    • सदस्य के सेवाकाल के दौरान मृत्यु होने की स्थिति में अंत्येष्ठी के लिए रु.10,000.00 का भुगतान किया जाएगा ।
    • सदस्यों को सेवानिवृति,त्यागपत्र देने, निष्कासन, बरखास्तगी आदि के मामलों उनके द्वारा किए गए अशदान को 08 प्रतिशत साधारण ब्याज के साथ लौटा दिया जाएगा । 
    • जब कोई व्यक्ति लम्बी बीमारी या किसी चोट या बीमारी की वजह से अक्षम होने के कारण जब अन्य कोई अवकाश न होने की स्थिति में असाधारण अवकाष (वेतन के बगैर) मंजूर किया हो को इस स्कीम के तहत रु. 500/- प्रति माह के दर पर वित्तीय सहायता का भुगतान किया जाएगा । तथापि कोई भी दावा अधिकार नही होगा और वित्तीय सहायता स्वीकृत करना प्रबंध समिति की इच्छा पर निहित है ।
    • सदस्यों द्वारा आत्महत्या/आत्महत्या की कोशिश, नषाखोरी या ड्रग्स पर निर्भरता के कारण मृत्यु/अषक्तता के मामले में देय लाभ को अस्वीकार करने का अधिकार प्रबंध समिति के पास सुरक्षित है । ऐसे सभी मामलों में प्रबंध समिति वसूली गई अशदान को स्वीकार्य ब्याज के साथ उनके नामिती या कानूनी वारिस को ही लौटाएंगे ।

निधि का प्रबंधन

    • किसी वर्ष में सदस्यों से वसूली गई अंषदान का अधिषेष को बचत में निवेष किया जाएगा, जो ब्याज में लाभ अर्जित करेगा ।
    • सदस्यों से वसूली गई अंषदान और उस अंषदान में अर्जित ब्याज को स्कीम के तहत देयता में उपयोग किया जाएगा । किसी तत्कालिक आवष्यक्ता को पूरा करने के लिए निधि में कमी की स्थिति में पुलिस महानिदेषक, पुलिस महानिदेषक के विवेकाधिकार निधि या अण्डमान तथा निकोबार पुलिस के किसी अन्य रेजिमेंटल निधि से निधि स्थानांतरित कर सकते है ।
    • पुलिस महानिदेषक निवेषों को प्रबंध उचित तरीके से कर रहा सुनिष्चित करने किसी भी समय स्कीम के संचालन की समीक्ष कर सकते है ।

पुलिस महानिदेषक विवेकाधिकार निधि

    • इस निधि का उद्देष्य इस निधि के सदस्य को निम्नलिखित प्रयोजनों तथा तरीकों से वित्तीय सहायता प्रदान करना है ।
      • कैन्सर तथा हृदय, गुर्दा और यकृत से संबंधित शल्यक्रिया के लिए जाने वाले मरीजों के साथ जाने वाले व्यक्ति का यात्रा व्यय प्रदान करने के लिए (अधिकतम सीमा रु.10,000.00)
      • पुलिस हाऊस, पुलिस लाइन या अन्य पुलिस स्थापनाओं में आयोजित राजकीय बैठकों के दोैरान मध्याह्न भोजन/रात्री भोज के खर्चों का वहन । 
    • वित्तीय सहायता प्रदान करना अर्थात् पुलिस अधिकारी/कर्मी जो अपने बच्चों को उच्च षिक्षा के लिए भेजना चाहते है, उनको छात्रवृत्ति प्रदान करना । अलग नियम बनाया हुआ है ।
    • अण्डमान तथा निकोबार पुलिस के विविध रेजिमेंटल निधियों का रखरखाव कर रहे पुलिस कर्मियों को मानदेय प्रदान करना ।

पुलिस महानिदेषक विवेकाधिकार निधि 

इस निधि का उद्देष्य इस निधि के सदस्य को निम्नलिखित प्रयोजनों तथा तरीकों से वित्तीय सहायता प्रदान करना है ।
  अप्रतिदेय (जो वापस नहीं किया जाएगा)

    1. कैन्सर तथा हृदय, गुर्दा और यकृत से संबंधित शल्यक्रिया के लिए जाने वाले मरीजों के साथ जाने वाले व्यक्ति का यात्रा व्यय प्रदान करने के लिए (अधिकतम सीमा रु.10,000.00)
    2. पुलिस हाऊस, पुलिस लाइन या अन्य पुलिस स्थापनाओं में आयोजित राजकीय बैठकों के दोैरान मध्याह्न भोजन/रात्री भोज के खर्चों का वहन ।
    3. वित्तीय सहायता प्रदान करना अर्थात् पुलिस अधिकारी/कर्मी जो अपने बच्चों को उच्च शिक्षा के लिए भेजना चाहते है, उनको छात्रवृत्ति प्रदान करना । अलग नियम बनाया हुआ है ।
    4. निजी लोगों को बैंड की सेवा प्रदान करके आय सृजित करने वाले पुलिस बैंड कर्मियों को मानदेय प्रदान करना । 
    5. अण्डमान तथा निकोबार पुलिस के विविध रेजिमेंटल निधियों का रखरखाव कर रहे पुलिस कर्मियों को मानदेय प्रदान करना ।

प्रतिदेय (वापस किया जाने वाला)

    • कोई भी सदस्य जो लम्बी बीमारी, बाढ़, तूफान, भूकम्प, आग या अन्य प्राकृतिक आपदाओं के कारण सम्पत्ति की भारी नुकसान के कारण अत्यंत विपत्तिजनक स्थिति में है उनको ब्याज रहित वापस करने योग्य वित्तीय सहायता प्रदान करना । 
    • इनके बच्चों को उच्च शिक्षा के लिए ब्याज रहित वित्तीय सहायता प्रदान करना ।
    • उपर्युक्त परिस्थिति मेें दिया जाने वाला ब्याज रहित वित्तीय सहायता की राशी निम्न तालिका के अनुसार होगा:   

प्रतिदेय

S.No Rank Limit (`)
 1. पुलिस सिपाही/अनुचर सिपाही 35000.00
 2. प्रधान सिपाही 40000.00
 3. सहायक उप निरीक्षक (सभी यूनिट) 50000.00
 4. उप निरीक्षक (सभी यूनिट) 55000.00
 5. निरीक्षक 60000.00

 

    • स्वास्थ्य चिकित्सा/आश्रितों के उच्च शिक्षा के लिए प्रदान किए जाने वाले वित्तीय सहायता की राशी को 30 समान किस्तों में वसूला जाएगा । तथापि यदि कोई सदस्य ऋण राशी को कम किस्तों या एक साथ चुकाना चाहते हो तो चुका सकते हैं । विधवाओं सहित सदस्यों के आश्रितों को अपनी आजीविका के लिए नियमित या अतिरिक्त आय के लिए सिलाई, एम्ब्रोइडरी, काश्बढ़ईगिरी, मुर्गी/बकरी पालन, दुग्धेत्पादन, मोमबत्ती और साबुन बनाना, मसाला पिसाई और पैक करने का कार्य, बेंत - शिल्पकारी जैसे अपने कुठीर उद्योग का शुरुआत करने के लिए रु. 25,000.00 (अधिकतम) की ब्याज रहित वित्तीय सहायत प्रदान करना ।

पदाधिकारी: प्रबंधन समिति के निम्नलिखित पदाधिकारी होंगे:

    • अध्यक्ष - पुलिस महानिदेशक, अण्डमान तथा निकोबार द्वीपसमूह
    • वरिष्ठ उपाध्यक्ष - पुलिस महानिरीक्षक/उप पुलिस महानिरीक्षक
    • उपाध्यक्ष - पुलिस अधीक्षक (सशस्त्र पुलिस) 
    • सचिव/कोषाध्यक्ष पुलिस उप अधीक्षक (सशस्त्र पुलिस)
    • सदस्य - पुलिस उप अधीक्षक (पुलिस मुख्यालय)
    • सदस्य - पुलिस उप अधीक्षक (अपराध अन्वेषण विभाग)
    • सदस्य - सहायक समादेशक (मुख्यालय), भारत आरक्षित वाहिनी
    • सदस्य - मुख्य अग्निषमन अधिकारी
    • सदस्य -(एक वरिष्ठतम सिपाही) दक्षिण अण्डमान जिला, मध्योतर अण्डमान जिला, सषस्त्र पुलिस/विषेष सषस्त्र पुलिस/पुलिस प्रषिक्षण विद्यालय/कार निकोबार/पुलिस रेडियो संगठन/अग्निशमन/भारत आरक्षित वाहिनी/पुलिस मेरिन बल, प्रत्येक से एक-एक

निधी का स्रोत

    • बागान, बैंड और चाय कैंटिन में चालु राशी और उसके भावी अर्जन से ।
    • स्वैच्छिक आधार पर सभी सदस्यों के प्रति वर्ष आशदान  निम्नलिखित दर पर होगा । 

निधी का स्रोत

क्रमांक पद सीमा
 1. पुलिस महानिदेशक रु. 700/- प्रति वर्ष
 2. पुलिस महानिरीक्षक/पुलिस उप महानिरीक्षक रु. 600/- प्रति वर्ष
 3. पुलिस अधीक्षक रु. 500/- प्रति वर्ष
 4. पुलिस उप अधीक्षक रु. 450/- प्रति वर्ष
 5. निरीक्षक रु. 350/- प्रति वर्ष/td>
 6. उप निरीक्षक (सभी यूनिट) रु. 300/- प्रति वर्ष
 7. सहायक उप निरीक्षक (सभी यूनिट) रु. 250/- प्रति वर्ष
 8. PC Rs. 125/- P.A
 9. प्रधान सिपाही रु. 175/- प्रति वर्ष
 10. पुलिस सिपाही रुरु. 125/- प्रति वर्ष
 11. अनुचर सिपाही रु. 100/- प्रति वर्ष

अण्डमान तथा निकोबार पुलिस कल्याण और मनोरंजन क्लब निधि

उद्देश्य: अण्डमान तथा निकोबार पुलिस कल्याण और मनोरंजन क्लब जिसे आगे से क्लब सन्दर्भित किया जाएगा का उद्देष्य अण्डमान तथा निकोबार पुलिस के कर्मियों (राजपत्रित, अधीनस्थ पुलिस अधिकारी और अनुचर सिपाही) के कल्याण और मनोरंजनात्मक क्रियाकलापों को बढ़ावा देना है ।.

सदस्यता: इस क्लब की सदस्यता अण्डमान तथा निकोबार पुलिस के सभी राजपत्रित, अराजपत्रित तथा अनुचर सिपाही के लिए खुला है ।

    निधि का स्रोत: क्लब के निधि में निम्नलिखित शामिल है:
    1. सरकार द्वारा समय-समय पर निर्धारित दर पर सहायता अनुदान
    2. सदस्यों का आशदान

सदस्यों का आशदान

क्रमांक पद राशि
 1. पुलिस महानिदेशक/पुलिस महानिरीक्षक Rs. 110.00
 2. पुलिस उप महानिरीक्षक Rs. 85.00
 3. पुलिस अधीक्षक/समादेशक Rs. 70.00
 4. पुलिस उप अधीक्षक/पुलिस रेडियो अधिकारी/मुख्य अग्निशमन अधिकारी/सहायक समादेशक Rs. 60.00
 5. निरीक्षक Rs. 55.00
 6. उप निरीक्षक (सभी यूनिट) Rs. 50.00
 7. सहायक उप निरीक्षक (सभी यूनिट) Rs. 45.00
 8. प्रधान सिपाही/पुलिस सिपाही/सीटी/एफसी/डीआर/ डीएम/एफएम/एफई आदि Rs. 25.00

अण्डमान तथा निकोबार पुलिस बैंड

बैंड समिति: पुलिस बैंड समिति में निम्नलिखित होेेंगे -

      1. पुलिस महानिरीक्षक - अध्यक्ष
      2. पुलीस अधीक्षक (सशस्त्र पुलिस) - उपाध्यक्ष
      3. पुलीस उप अधीक्षक (सशस्त्र पुलिस) - सचिव
      4. रिज़र्व निरीक्षक - सदस्य
      5. लेखाकार - कोषाध्यक्ष
      6. क्वार्टर मास्टर(एस) - सदस्य
      7. उप निरीक्षक बैंड - सदस्य
      8. उप निरीक्षक लाइन - सदस्य 

आम या निजी कार्यक्रमों के लिए बैंड बजाने की अनुमति पुलिस अधीक्षक (सशस्त्र पुलिस) प्रदान करेगा तथा उनकी अनुपस्थिति में पुलिस उप अधीक्षक (सशस्त्र पुलिस) । बैंड का निशुल्क आपूर्ति: सरकारी विभाग द्वारा कल्याण, खेलकूद और संबद्ध प्रयोजनों के लिए आयोजित विविध कार्यक्रमों के लिए विशेष मामलों में बैंड निःषुल्क या रियायती दर प्रदान करने के लिए पुलिस महानिदेशक अनुमति प्रदान करेंगे । निजी कार्यक्रमों के लिए पुलिस बैंड का दर इस प्रकार है:

रु. 3000.00/ घंटा या उसके भाग के लिए

रु. 2000.00/ अतिरिक्त घंटा या उसके भाग के लिए

पुलिसकर्मी/अग्निशमन/पुलिस रेडियो/भारत आरक्षित वाहिनी कर्मचारियों के लिए रियायती दर इस प्रकार है:

        1. रु. 1500.00/ घंटा या उसके भाग के लिए
        2. रु. 1000.00/ अतिरिक्त घंटा या उसके भाग के लिए । यह रियायती दर परिवारिक सदस्यों या पुलिसकर्मियों के अन्य निजी कार्यक्रमों के लिए ही उपलब्ध होगा।

अण्डमान तथा निकोबार पुलिस खेलकूद और मनोरंजन संस्था निधि

कार्यकारी समिति 

क्रमांक रैंक पद
 1. पुलिस महानिरीक्षक अध्यक्ष
 2. पुलिस उप महानिरीक्षक वरिष्ठ उपाध्यक्ष
 3. पुलिस अधीक्षक उपाध्यक्ष
 4. पुलिस उप अधीक्षक(सशस्त्र पुलिस) सचिव
 5. पुलिस उप अधीक्षक (मुख्यालय) सदस्य
 6. पुलिस उप अधीक्षक (भारत आरक्षित वाहिनी) सदस्य
 7. रिजर्व निरीक्षक कोषाध्यक्ष/सदस्य

आय और सम्पत्ति का अनुप्रयोग: संस्था के चल और अचल सम्पत्तियों से अर्जित सभी आय को सरकार द्वारा समय-समय पर दिए गए अनुदान के खर्च के संबंध में नियमों के तहत संघ के ज्ञापन में बताए इसके लक्ष्य और उद्देश्य को बढ़ावा देने के लिए पूरी तरह से उपयोजन किया जाएगा । संस्था के आय और सम्पत्ति के अंष को लाभाष, बोनस, शेयर या किसी भी तरीके से पूर्व या तत्कालिन सदस्य या उनके माध्यम से कोई व्यक्ति दावा करता हो, जो भी हो को प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से भुगतान या स्थानांतरित नही किया जाएगा । संस्था के किसी भी सदस्य को इस सदस्यता के आधार पर जो भी हो संस्था के चल या अचल सम्पत्तियों पर व्यक्तिगत दावा या लाभ नही प्राप्त कर सकता ।

मुख्य उद्देश्य:

          1. सदस्यों के बीच भाईचारा, प्यार और आपसी सहायता को बढ़ाना ।
          2. पुलिस बल के सदस्यों को खेल, खेल-कूद और बैंड के सुविधाओं के माध्यम से मनोरंजन प्रदान करना ।
          3. इसके सदस्यों के सभी सामान्य सुविधाओं, लाभ, साहूलियत का खर्च उठाना।
          4. जनता के हित और लाभ के लिए संग्रहण, संकलन, मुद्रण, प्रकाशन और बिक्री द्वारा वितरण द्वारा महत्वपूर्ण सूचनाओं को प्रचार करने के लिए ऋण और अन्यता, पुस्तकों का प्रकाषन ।
          5. संस्था के उद्देश्य की प्राप्ति के लिए जो सहायक हो ऐसी प्रक्रिया जो देश के किसी भाग में अन्य संगठन या संस्था जिनका संस्था के पूर्ण या अंशक उद्देश्य समान हो के साथ समन्वय कर कार्य करना ।

केन्द्रीय पुलिस कैंटिन अण्डमान तथा निकोबार पुलिस, लाईन

सेवारत/सेवानिवृत्त पुलिस कर्मियों और उसके परिवारिक सदस्यों के कल्याण के लिए केन्द्रीय पुलिस कैंटिन दिनांक 26.01.2012 से पुलिस लाइन के पुरानी शस्त्रागार में आरंभ किया गया है । वर्तमान में कैंटिन पुलिस लाइन के पुलिस परिवार कल्याण केन्द्र भवन में कार्य कर रहा है ।

        • प्रबंधन समिति: पुलिस महानिरीक्षक सी पी सी प्रबंधन समिति का अध्यक्ष है । उनके नौ सहयोजित सदस्य हैं ।  

                                     पर्यवेक्षण: केन्द्रीय पुलिस कैंटिन, अण्डमान तथा निकोबार पुलिस का पर्यवेक्षण पुलिस उप अधीक्षक (सषस्त्र पुलिस) द्वारा किया जाता है ।   

वर्तमान में तैनात कर्मचारी: मास्टर कैंटिन: 01 उप निरीक्षक, 02 प्रधान सिपाही और 01 होमगार्ड । सहायक कैंटिन: 01 उप निरीक्षक, 02 सिपाही और 01 होमगार्ड ।

        1. अधिप्राप्ति/खरीद:मास्टर कैंटिन, अण्डमान तथा निकोबार पुलिस केन्द्रीय कार्यालय, केन्द्रीय पुलिस कैंटिन और सहायक कैंटिन के बीच मध्यस्थ के रूप में कार्य कर रहा है और सहायक कैंटिन के मांगों के अनुसार अधिप्राप्ति और खरीद के लिए जिम्मेवार है। मास्टर कैंटिन केन्द्रीय पुलिस कैंटिन में पंजीकृत फर्मों में ही मांग प्रस्तुत करेगा ।
        2. प्रभार: मास्टर कैंटिन सहायक कैंटिन को किए जाने वाले आपूर्ति पर 1 प्रतिषत लाभ प्रभारित करेगा जिसमें से 0.5 प्रतिशत केन्द्रीय कार्यालय, केन्द्रीय पुलिस कैंटिन, नई दिल्ली को भेज देगा और शेष 0.5 प्रतिशत मास्टर कैंटिन अपनी प्रगति के लिए रखेगा । अण्डमान तथा निकोबार पुलिस की सहायक कैंटिन पुलिस कर्मियों से सिर्फ 2 प्रतिशत लाभ प्रभारित करेगा जो पुलिस बल के कल्याण और कैंटिन सुविधाओं की प्रगति के लिए उप्रयुक्त किया जाएगा । 
        3. खरीद सीमा: विभिन्न पदो ंके पुलिस कर्मियों के उपभोगीय सामान, खाद्य सामग्री, प्रसाधन सामग्री आदि (बडे सामानों के अतिरिक्त) के मासिक खरीद सीमा इस प्रकार है-  
          • पुलिस सिपाही और प्रधान सिपाही रु. 7000/- तक
          • सहायक उप निरीक्षक से निरीक्षक रु.10000/- तक
          • राजपत्रित अधिकारियों के लिए रु. 15000/- तक
        4. सदस्यता की वापसी: अण्डमान तथा निकोबार पुलिस कैंटिन नियम, 2011 के अनुसार किसी भी पुलिस कर्मी को इन सुविधाओं का दुरूपयोग करता हुआ पाया तो प्रबंधन समिति के सिफ़ारिश पर सक्षम प्राधिकारी द्वारा स्थाई या कुछ अवधि के लिए अस्थाई रूप से रोक लगा सकते है ।

 

पुलिस चिकित्सालय

चिकित्सालय की स्थापना दिनांक 24 सितम्बर 1961 में हुआ । यह पुलिस लाइन में स्थित है। चिकित्सालय पुलिस कर्मियों और उनके परिवार के सदस्यों को स्वास्थ्य सहायता प्रदान करता है ।

top